Mutual Fund क्या है और कैसे निवेश करे?

पैसा बचाने या इन्वेस्ट करने की बात आती है तो मुख्य रूप से हम Saving Account, Fixed Deposit, RD, Kisan Vikas Patra, PPF आदि में निवेश करते हैं। हालाकी इन सभी Saving Scheme में आपको ज्यादा Return नहीं मिलता।

एक Saving Account में आपको सिर्फ 4% Interest मिलता है तो वहीं FD या RD में आपको 6 से 7% Interest मिलता है। PPF और KVP में आपको 8% तक व्याज मिलता है।

Mutual Funds एक ऐसी स्कीम है जिसमें आपको बाकी Saving Scheme के मुक़ाबले काफी ज्यादा Return मिलता है जो की 30% तक हो सकता है। लेकिन आज भी बहुत कम लोगों को Mutual Funds के बारे में पता है।

अगर आपको भी Mutual Funds के बारे में जानना है तो आज हम आपको बताने वाले है की आखिर Mutual Fund क्या, कैसे काम करता है और क्या-क्या लाभ व हानि इसमें जुड़ी हुईं है।

Mutual Fund क्या है?

Mutual Fund (म्यूचुअल फ़ंड) एक ऐसा Investment होता है जिसमें आप अलग-अलग तरह की Investment एक ही जगह कर सकते हो।

Asset Management company (AMC) वो कंपनी होती है जो Mutual Fund खोलती है। इस AMC company को आप अपना पैसा देते हो अलग – अलग जगह Invest करने के लिए। आप जैसे बहुत से लोग भी अपना पैसा इस Asset Management company में डालते हैं।

अब यह AMC company आपका पैसों को अपने सलाहकार की राय लेकर अलग-अलग जगह निवेश करती है। निवेश करने के बाद जो return (मुनाफा) मिलता है उसका कुछ 1-2% यह AMC company अपने पास रख लेती है और बाकी का सारा पैसा आप जैसे Invest करने वाले लोगों को Return rate के हिसाब से मिल जाता है।

हमारे देश में HDFC, ICICI, TATA, Birla, HSBC, Reliance आदि बैंक और कंपनियों ने अपनी-अपनी Asset Management Company (AMC) खोल रखीं है। यह AMC कंपनी कई सारे अलग-अलग तरह के Mutual Fund निकालतीं हैं।

Mutual Fund में आपको कितना Return मिलेगा यह इस बात पर निर्भर करता है की यह Asset Management company आपका पैसा कहाँ Invest कर रही है। Mutual Fund आपको कितना Return (मुनाफा) दे सकते हैं और कितने Risky हो सकते हैं, ये सारी चीजें इस बात पर निर्भर करतीं है की आप किस Mutual Fund में अपना पैसा Invest कर रहे हो। कम से कम आपको 5% का retrun भी मिल सकता है और ज्यादा से जायदा 30% का Return भी आपको मिल सकता है। Zero risk वाले mutual fund भी होते हैं और High Risk wale भी होते हैं।

Mutual Fund में High Risk और Low Risk इस बात पर निर्भर करता है की Asset management company आपके पैसों को किस जगह Invest कर रही है। अगर यह company आपका पैसा Stock Market (शेयर बाज़ार) में निवेश कर रही है तो वो ज्यादा Risky होगा लेकिन उसमें Return अच्छा मिलेना का मौका होता है।  तो वहीं दूसरी तरफ अगर AMC company आपके पैसे को Goverment Bonds में Invest कर रही है तो कम Risky होगा।

Mutual Funds के प्रकार

Asset management company आपके पैसे को कहाँ-कहाँ निवेश कर रही है इसके आधार पर Mutual Funds के कई प्रकार हो सकते हैं। मुख्यतः इन Mutual Funds के तीन प्रकार होते हैं:

1. Equity Mutual Fund

Equity Mutual Fund में आपके पैसे को शेयर बाज़ार (Stock Market) में निवेश किया जाता है। अतः इस प्रकार के Mutual Fund में Risk ज्यादा होता है लेकिन आपको बता दें की इसमें Return भी आपको ज्यादा मिलता है।

अगर आपका पैसा किसी बड़ी कंपनी में Invest किया जा रहा है तो उसे कहते हैं Large Cap Equity Fund और अगर किसी छोटी कंपनी में आपके पैसे को निवेश किया जा रहा है तो उसे कहेंगे Small Cap Equity Fund, ऐसे ही होता है Mid Cap Equity Fund

बड़ी कंपनी (Large Equity Fund) में आप Invest करते हैं तो उसमें Risk कम होता है, जबकि छोटी कंपनी में Risk ज्यादा होता है। हालाकी बड़ी कंपनी के मुक़ाबले छोटी कंपनी में आपके पैसे में वृद्धि ज्यादा होती है। अगर आपको कम Risk लेकर Mutual Fund में invest करना है तो आप Large Equity Fund में निवेश कर सकते हैं।

Diversified Equity Fund में Small, Medium और Large Cap equity fund इन तीनों में थोड़ा -थोड़ा Invest किया जाता है।

Equity Linked Saving Scheme (ELSS) में आप Tax saving कर सकते हैं।

और भी ऐसे कई Equity Funds के प्रकार हैं।

2. Debt Mutual Fund

इस प्रकार के Mutual Fund में आपके पैसे को Debt Instrument में निवेश किया जाता है। Debt Instrument जैसे की Goverment Bonds, Deposit Certificate, Corporate Bonds आदि में आपके पैसे को निवेश किया जाता है। इस प्रकार के Mutual Funds में Risk कम होता है और Return भी Low होता है।

उदाहरण के लिए Goverment Bonds में आप सरकार को एक तरह से loan देते हैं और बाद में आपके पैसे को उचित Interest rate के साथ आपको वापस मिल जाता है।

Debt Fund कई प्रकार के होते हैं जैसे की – Liquid Funds, Gilt Funds, Dynamic Bond Funds, Income Funds, Short-Term and Ultra Short-Term Debt Funds, Fixed Maturity Plans

Debt Fund में क्रेडिट रिस्क और ब्याज दर जोखिम होता हैं, जो उन्हें bank FD की तुलना में जोखिम भरा बनाता है। क्रेडिट जोखिम में, फंड प्रबंधक कम-क्रेडिट Bonds में निवेश कर सकता है, जिसमें डिफ़ॉल्ट की अधिक संभावना होती है। Interest rate बढ्ने के कारण Bonds की कीमत भी कम होने का risk होता है।

3. Hybrid Mutual Fund

Hybrid Mutual Funds, Equity और Debt Mutual Funds का मिश्रण होता है। इसमें कुछ पैसा Equity Fund में इन्वेस्ट किया जाता है और कुछ पैसा Debt funds में Invest किया जाता है ताकि जोखिम (RisK) को कम किया जा सके।

Hybrid Mutual Funds के भी कई प्रकार होते हैं जैसे की Equity-oriented hybrid funds,  Debt-oriented balanced funds, Monthly Income Plans,  Arbitrage Funds

Mutual Fund में निवेश कैसे करे – How To Invest in Mutual Funds

Mutual Funds में निवेश करना अब बहुत ही आसान है और आप घर बैठे ही ऑनलाइन अपने Mobile के जरिये ही Mutual funds में invest कर सकते हैं।

  • आप अपनी Bank के नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के जरिये भी Mutual Funds में निवेश कर सकते हैं।
  • Paytm Money mobile app में बड़ी आसानी से 0% कमीशन के आप MF में निवेश कर सकते हैं।
  • और भी कई ऐसी trusted apps हैं जहां से आप Mutual Funds में अपना पैसा लगा सकते हैं।

Mutual Funds के हानि व लाभ (Pros & Cons)

Mutual Funds में आपका पैसा अलग-अलग जगह निवेश किया जाता है इसलिए इसमें जोखिम (Risk) कम होता है। क्यूंकी आप किसी एक जगह Invest नहीं कर रहे इसलिए आपके investment पर कोई असर नहीं पड़ेगा। Mutual Funds कहीं ज्यादा बेहतर है Gold, Real estate, Stock market की तुलना में।

Mutual Funds में Risk (जोखिम) इस बात पर निर्भर करता है की आप किस Mutual fund में निवेश कर रहे हैं।

दूसरी सबसे अच्छी बात Mutual Fund की ये है की आप Minimum Amount से इसमें Invest कर सकते हैं, आपको कोई बड़ा Amount invest करने की जरूरत नहीं। सिर्फ 500 rupees हर महीने की SIP आप शुरू कर सकते हैं।

Mutual Funds की Investment एक Professional Expert fund manager करता है, वो ही तय करता है की आपका पैसा कहाँ invest करना है और कहाँ नहीं।

कुल मिलाकर अगर देखा जाए तो Mutual Fund उतना risky नहीं है कितना हम समझ रहे हैं। अगर सही Mutual Fund आपने चुना है और लंबे समय तक आप अपना पैसा Invest करते हैं तो बहुत ज्यादा chances हैं आपको बेहतर Return मिलने के।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here